Shree Hari Satsang Samiti
Header Image

Cultural Society for Tribals
सांस्कृतिक क्रान्ति का अभियान

Explore

श्रीहरि सत्संग समिति

समिति का उद्देश्य वनवासियों में जन-जागृति उत्पन्न कर उन्हें स्वाभिमानी, सक्षम व आत्मनिर्भर बनाना है।

हमारे विषय में

4 लाख गाँवों में बसे वनबन्धुओं की धार्मिक अस्मिता, स्वाभिमान, स्वावलम्बन और राष्ट्रवाद की भावना को प्रबल करने के लिये समर्पित

हमारी कार्यविधि

जनजातीय क्षेत्रों में सेवा, संस्कार, शिक्षा, सुरक्षा और अपनी प्राचीन व गौरवशाली संस्कृति के प्रति स्वाभिमान जगाना

आप भी शामिल हों

श्रीहरि सत्संग समिति से जुड़कर आप भी संस्कार शिक्षा आंदोलन का हिस्सा बन भारत के विकास मे योगदान दें

हमारा लक्ष्य

शिक्षित भारत
संस्कारित भारत
स्वस्थ भारत
स्वावलम्बी भारत
संपन्न भारत

कथाकार योजना

श्रीहरि सत्संग समिति, सनातन भारतीय संस्कृति, धर्म, संस्कार, रीति-रिवाजों के संरक्षण, संवर्धन के साथ साथ सामाजिक समरसता, वनबन्धुओं के आरोग्य, स्वावलम्बन, अधिकारों के प्रति जागरण, विकास के साथ साथ उनकी धार्मिक आस्था और अस्मिता को अक्षुण रखने के लिये कई योजनाओं के माध्यम से लगातार कार्य करती रहती है। गाँव के युवा भाई-बहनों को संतों और कथाकारों के द्वारा प्रशिक्षण देकर उनके अपने अपने वनक्षेत्रों में हरिकथा, सत्संग, परिवारमंगल, ग्राम मंगल अनुष्ठान इत्यादि का आयोजन किया जाता है।

विस्तार से जानें

×

कथाकार योजना

गाँव के युवा भाई-बहनों को संतों और कथाकारों के द्वारा प्रशिक्षण देकर उनके अपने अपने वनक्षेत्रों में हरिकथा, सत्संग, परिवारमंगल, ग्राम मंगल अनुष्ठान इत्यादि का आयोजन किया जाता है।

×

राम मंदिर रथ योजना

एक मिनी ट्रक को मन्दिर के रुप में आकार देकर स्थानीय देवता का पूजन तथा वीडियों द्वारा रामायण तथा महाभारत चलचित्रों के प्रदर्शन के साथ-साथ धर्म-सभा के आयोजन द्वारा धार्मिक भाव तथा राम साधक बनने व प्रेरणा देना।

 

विस्तार से जानें

×

राम मंदिर रथ योजना

एक मिनी ट्रक को मन्दिर के रुप में आकार देकर स्थानीय देवता का पूजन तथा वीडियों द्वारा रामायण तथा महाभारत चलचित्रों के प्रदर्शन के साथ-साथ धर्म-सभा के आयोजन द्वारा धार्मिक भाव तथा राम साधक बनने व प्रेरणा देना।

×

संत प्रवास

स्थानीय संतों का गांव-गांव में पदयात्रा द्वारा धर्म सभाओं का आयोजन करवाना तथा सामूहिक व्यसन मुक्ति का संकल्प करवाना।

 

विस्तार से जानें

×

संत प्रवास

स्थानीय संतों का गांव-गांव में पदयात्रा द्वारा धर्म सभाओं का आयोजन करवाना तथा सामूहिक व्यसन मुक्ति का संकल्प करवाना।

×

वनवासी रक्षा परिवार

“श्रीहरि सत्संग समिति” की “वनवासी रक्षा परिवार योजना” है, जिसके द्वारा नगरवासी श्रीराम का सम्बन्ध वनवासी श्रीहनुमान से स्थापित कर पंचमुखी शिक्षा के द्वारा शिक्षित, स्वस्थ, सम्पन्न, संस्कारित और संगठित वनवासी भारत का संकल्प पूरा करना है।

विस्तार से जानें

×

वनवासी रक्षा परिवार

घर-घर अलख जगाना है, वनवासियों को गले लगाना है

×

हमारी योजनायें

इस उद्देश्य की पूर्ति के लिये गांव में “संस्कार केन्द्रों” की स्थापना कर वहां के निवासी स्त्री, पुरूष व बच्चों को एकत्र करके सत्संग के माध्यम से उनमें अपनी संस्कृति के प्रति आदर, व्यवहार में संस्कार तथा ज्ञान का प्रसार व संगठित जीवन के लिये प्रेरित किया जा रहा है।

Our Associates

Want to Know More About SHSS…

If you think, you are capable of making a DIFFERENCE,
Adopt tribal villages, Promote Holistic DEVELOPMENT.

Please get in touch with Us for further details.